Poetry

20200514_182220

दिल दुखाते हैं

6
दिल दुखाते हैं ,पर दिल दुखाने का एहसास होने नहीं देते ।जख्म देकर रुलाते हैं ,पर रोने नहीं देते ।दर्द छूकर जगाते हैं ,पर...
Screenshot_2020-05-08-07-38-32-198_com.opera.mini.native

बेवफा

1
तेरी याद बहुत आती है मुझको, हर लम्हा रूलाती है मुझकोइश्क में क्या रुसवाई हो गई, जो इतना तड़पाती है मुझको गलत तू नहीं, गलत...
1587148641507

मैंने देखा एक सपना

1
मैंने देखा एक सपना मैंने देखा एक सपनाक्या कभी यह होगा मेरा अपना।ए मेरे प्यारे वतन,बन जाए तू खुशियों का चमन। महामारी हो जाए यह दूर,हो...
1571566253699

माँ❤️✍️

2
याद आती है वो गोद जब बुखार से माथा तपता है।गफलत में निकला हर एक लफ्ज़ बस माँ-माँ जपता है।प्यार सब करते हैं लेकिन...
IMG_20200427_105820_453

Jab tum nhi the pass mere

5
Jab tum nhi the pass mere, hai man udass thaKhud se hi dur thi mai, jo khuda na mere pass tha...Ankho me nami thi,...
1586626078209

लक्ष्मणरेखा का रख लो मान

1
शीर्षक - लक्ष्मण रेखा का रख लो मान विपदा का आगमन लिए गहराया संकट अपार,जीवन जीने की जिजीविषा पर कोरोना ने किया वार। सहमा सहमा हर...
SAVE_20200423_122159

हिसाब

1
  गुजार दी तमाम उम्र एक माँ ने अपने नौनिहालों को कुछ बनाने मेंऔर फिर एक दिन ऐसा आया वो माँ अब उनकी कुछ न...
SAVE_20200422_123811

कुदरत का कहर

1
  प्रकृति करती थी पोषणमनुष्य ने किया शोषणप्राकृतिक संसाधनों काबहुत किया है दोहन ये कुदरत है जनाबरखती है सब हिसाबबहुत कर ली मनमानीअब देना होगा जबाब रूठी...
SAVE_20200422_122658

कुछ किस्से गढ़ते हैं

2
आओ हम सब मिलकर, कुछ किस्से गढ़ते हैं भूली बिसरी यादों के, फिर चर्चे करते हैंबचपन की गलियों में, चलो दौड़ लगाकर आएँघर बैठे-बैठे ही...
PicsArt_04-19-10.06.48

किसान की पीड़ा _—किसान ही जाने

6
खून पसीने से खींची हुई फसल,कटने को तैयार खड़ी है।सरकार दाम बढ़ाएगी कहकर,अपने आश्वासन पर अड़ी है।आज देश-विदेश में यह ,आ गई कैसी मुश्किल...

Stay Connected With us

81FansLike
52FollowersFollow