Hindi Inspirational Lines – Part 3

1
147
created_image_1586503536359
0
(0)

(21)

दर्द कितना खुशनसीब है जिसे
पा कर लोग अपनों को याद
करते है, दौलत कितनी
बदनसीब है जिसे पा कर लोग
अक्सर अपनों को भूल जाते है…

(22)
एक बार भगवान को एक उपासक ने पुछा,
“मृत्यु एवम् मोक्ष में क्या अंतर है?”

सुंदर जबाब——!!!
“साँसे पूरी हो जाये और तमन्नायें बाक़ी रहे, वह मृत्यु है।
साँसें बाक़ी रहें और तमन्नायें पूरी हो जाये, वह मोक्ष है!”

(23)

देश में “राजा”
समाज में “गुरु”
परिवार में “पिता”
घर में “स्त्री”
ये कभी “सधारण” नहीं होते
क्योंकि
~ निर्माण और प्रलय ~
इन्हीं के “हाथ” में होता है *

(24)

कल न हम होंगे न गिला होगा।
सिर्फ सिमटी हुई यादों का सिललिसा होगा।
जो लम्हे हैं चलो हंसकर बिता लें।
जाने कल जिंदगी का क्या फैसला होगा।

(25)
दुनियाँ की सबसे
अच्छी किताब हम स्वयं है

खुद को पढ़ने की कोशिश कीजिए
सब समस्याओं का
समाधान मिल जाएगा..

(26)

समय बहाकार ले जाता है…
नाम और निशान….
कोई हम में रह जाता है…
औऱ कोई अहम में….
इसलिए…!
जन्म के रिश्ते
ईश्वर का प्रसाद जैसे है
लेकिन
खुद के बनाये रिश्ते
आपकी पूँजी है
सहेज कर रखिये

(27)

पहली नमस्ते परमात्मा को,
जिन्होंने हमें बनाया है”.

“दूसरी नमस्ते माता पिता को,
जिन्होंने हमें
अपनी गोद में खिलाया है”.

“तीसरी नमस्ते गुरुओं को,
जिन्होंने हमको
वेद और ज्ञान सिखाया है”.

“चौथी और सबसे महत्वपूर्ण नमस्ते
“आप को”
“जिन्होंने हमें अपने साथ
जुड़े रहने का मौका दिया है.

(28)

समझ नही आता जिंदगी तेरा फैसला”…!!!!

“एक तरफ तू कहती है”
“सबर का फल मिठा होता है”…

“और दूसरी तरफ कहती है”
“वक्त किसी का इंतजार नही करता”

(29)

जितना बडा सपना होगा
उतनी बडी तकलीफें होगी
और जितनी बडी
तकलीफें होगी उतनी बडी
कामयाबी होगी
कर्म करो तो फल मिलता है,
आज नहीं तो कल मिलता है।
जितना गहरा अधिक हो कुँआ,
उतना मीठा जल मिलता है ।
जीवन के हर कठिन प्रश्न का,
जीवन से ही हल मिलता है।

created_image_1586503536359

(30)

बिखरने के तो लाख बहाने मिल जायेगे
आओ हम जुड़ने के अवसर ढूंढे….

यह जरूरी नही कि हर शख्स हमसे मिलकर खुश हो
मगर हमारा प्रयास यह रहे कि ,हमसे मिलकर कोई दुखी न हो

Rate This Post

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.